ध लॉ ऑफ़ वाइब्रेशन

LAW OF ATTRACTION IN HINDI

विपाशा नायक

मेन्टल हेल्थ एम्बेसडर

मुझे यकीन है कि आप "द सीक्रेट" नाम की पुस्तक के बारे में ज़रूर जानते होंगे। यह किताब "लॉ ऑफ़ अट्रैक्शन" के बारे में है। इस लॉ का आधार यह है कि आप जो भी सोचते हैं, वही अपने जीवन में लाते हैं ’। इसका यह अर्थ है की हम उन चीजों, स्थितियों या लोगों को आकर्षित कर सकते हैं जो हम अपने जीवन में चाहते हैं, बस सचेत रूप से उनके बारे में सोचकर। यह न केवल उन चीजों पर लागू होता है जो हम चाहते हैं, बल्कि उन चीजों पर भी जो हम नहीं चाहते हैं। इसलिए, आकर्षण का नियम सकारात्मक सोच के महत्व पर बल देता है। यह विश्वास की भावना पर भी जोर देता है ; कि हम जो भी आकर्षित कर रहे हैं, वह निश्चित रूप से हमें मिलेगा।

लेकिन, क्या होगा अगर हम सकारात्मक सोचते हैं, लेकिन हमारे कार्य उस सकारात्मकता से मेल नहीं खाते ? अगर मैं धनवान बनने के बारे में सोचु फिर भी मेरी वर्तमान वास्तविकता को ध्यान में रखते हुए, एक कंजूस की तरह पैसा खर्च करु ,तो क्या यह लॉ अभी भी मेरे लिए काम करेगा?

आकर्षण का नियम यह स्पष्ट करता है कि किसी को कुछ भी आकर्षित करने के लिए कैसे सोचना चाहिए। लेकिन पूरी सच्चाई यह है कि, सोच के साथ-साथ, ऐसा व्यव्हार करना भी ज़रूरी है। अगर मैं धन को आकर्षित करना चाहती

हूं, तो मुझे इस तरह से रहना और कार्य करना होगा जैसे कि मैं पहले से ही धनवान हूं। यह इस विश्वास के बारे में नहीं है कि "मैं धनवान बनूंगी" , बल्कि

"मैं धनवान हूं"। विश्वास में, सोचना, बात करना और अभिनय करना शामिल है , जैसे कि जो आप चाहते है उसे पहले से ही प्राप्त कर चुके हैं । और यह तब होता है, जब हम अपनी इच्छाओं के साथ अपनी तरंगो को जोड़ते हैं।

लॉ ऑफ़ अट्रैक्शन से परे, लॉ ऑफ़ वाइब्रेशन है। उत्तम जीवन जीने के लिए केवल इस एक ही नियम का पालन करना पर्याप्त है । इस लॉ के अनुसार, ब्रह्मांड में सब कुछ ऊर्जा है। यह क्वांटम भौतिकी द्वारा समझाया गया है और इसमें कोई अंधविश्वास या पौराणिक पहलू नहीं हैं। यह बताता है कि सब कुछ परमाणुओं से बना है, और प्रत्येक परमाणु एक छोटा सा वाइब्रेशन है। सभी पदार्थ और ऊर्जा प्रकृतिक रूप से तरंगें होते हैं। हमारे सहित सब कुछ, एक निश्चित आवृत्ति पर कंपन करता है और हमारी वास्तविकता को तय करता है।

हमारा प्रत्येक विचार एक भावना या इमोशन को जन्म देता है। जब हम एक नकारात्मक विचार बनाते हैं, तो नकारात्मक भावनाएं बनती हैं, जो हमारे तरंगो की आवृत्ति को कम करता है। इसी तरह, सकारात्मक विचार, सकारात्मक भावनाएं पैदा करते हैं जो हमारी तरंगो की आवृत्ति को बढ़ाते हैं। ब्रह्मांड उन स्पंदनों का जवाब देता है जिन्हें हम बाहर भेज रहे हैं। वह हमें लोगों, चीजों और स्थितियों के साथ संरेखित करता है जो हमारे द्वारा रखी गई ऊर्जा से मेल खाती हैं। जितना अधिक हम खुद को बेहतर बनाते हैं और अपने तरंगो को बढ़ाते हैं, उतना ही हम उन चीजों को देखते है जो हमारी भलाई और विकास के लिए फायदेमंद हैं।

ब्रह्माण्ड आपकी तरंगो की आवृति को दर्शाता है। यह आपकी इच्छाओं, या आवश्यकताओं को नहीं पहचानता है। यह केवल उस तरंगो आवृत्ति को समझता है। उदाहरण के लिए, यदि आपकी तरंगे भय, अपराध या शर्म जैसी नकरत्मक्त भावनाओ की आवृत्ति में है, तो आप वैसी चीजों को ही अपने जीवन में आकर्षित करेंगे

यदि आप प्यार, आनंद और प्रचुरता की आवृत्ति में

हैं, तो आप वैसी चीजों को आकर्षित करेंगे।

मैं यह एक अद्भुत उदहारण पढ़ा था जो कहता है, "यह एक रेडियो स्टेशन में ट्यूनिंग की तरह है। आपको उस संगीत में ट्यूनिंग बनानी होगी जिसे आप सुनना चाहते हैं ठीक वैसे जैसे आपको उस ऊर्जा में बांधना है जिसे आप अपने जीवन में प्रकट करना चाहते हैं। ”

तो हम इस ऊर्जा के साथ ट्यूनिंग कैसी बनाये ? कैसे हम अपने जीवन की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए अपने तरंगो की ऊर्जा को बढ़ा सकते हैं?

यहाँ कुछ चीजें हैं जिसका नियमित रूप से अभ्यास करने से, हमरी ऊर्जा बढ़ सकती है :

• ध्यान करते हैं। इस समय हमारी दुनिया

के लिए ये जरूरत बन गया है!

• जितना संभव हो उतना कृतज्ञता की भावना को महसूस और

व्यक्त करें। कृतज्ञता उस चीज को अधिक आकर्षित करती है जिसके के लिए आप ने आभार व्यक्त किया हैं।

• जब भी मौका मिले तब करुणा के भाव से दुसरो की मदद करें। याद रखें की आप जो देते

देते हैं, वही प्राप्त करते हैं।

• बिना किसी गैजेट के प्रकृति के साथ कुछ समय बिताएं

• खुद को सकारात्मक लोगों के साथ घेरें और गपशप और ड्रामा से दूर रहें

• नियमित रूप से थोड़ा व्यायाम कीजिये

• अपने रिक्त स्थान को स्वच्छ और व्यवस्थित रखें। हमारे कमरे की स्थिति हमारे मन की स्थिति को दर्शाती है।

• प्रतिदिन अपने आप से सकारात्मक पुष्टि दोहराएं

• फलों, सब्जियों और जड़ी-बूटियों जैसे उच्च वाइब्रेशन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें

• उन चीज़ों'या शौक के किये समय समर्पित करें जो वास्तव में आपको खुश करता है

अब जब आप जानते हैं कि विचारों में ऊर्जा है, तो सुनिश्चित करें कि आपके विचार सकारात्मक और शक्तिशाली हों !

View more content by विपाशा नायक

Discussion Board

क्या आपने कभी अपने जीवन में आकर्षण के नियम का उपयोग करने की कोशिश की है?